अल्मोड़ा: रानीखेत में गुलदार ने ग्रामीण को बनाया निवाला, क्षेत्र में दहशत

अल्मोड़ा। प्रदेश में मानव वन्यजीव संघर्ष थमने का नाम नहीं ले रहा है विशेषकर पर्वतीय क्षेत्रों में गुलदार का आतंक व्याप्त है। आए दिन गुलदार द्वारा ग्रामीणों को निवाला बनाए जाने की घटनाएं सामने आ रही हैं। इसी बीच यहां अल्मोड़ा के रानीखेत से दुखद खबर सामने आ रही है।

रानीखेत तहसील के चमड़खान गांव के नजदीक गुलदार ने एक ग्रामीण को निवाला बना लिया, देररात जंगल में उनका शव बरामद हुआ। घटना से मृतक के परिजनों में जहां कोहराम मचा है वही समूचे क्षेत्र में दहशत व्याप्त हो गई।

मिली जानकारी के मुताबिक चमड़खान के नजदीक टानारैली गांव के निवासी रमेश चंद्र उर्फ रघुवर दत्त पुत्र हीरा बल्लभ उम्र 60 वर्ष पुरोहित के साथ-साथ शादियों में खाना भी बनाने का काम करते थे। रविवार की शाम वह अपने गांव से चमड़खान बाजार गए थे। वापसी में आते समय रात लगभग सवा दस बजे घर से थोड़ी ही दूरी पर घात लगाकर बैठे गुलदार ने उन पर हमला बोल दिया। गुलदार के हमले में चीख-पुकार की आवाज सुन आसपास के लोग मौके की ओर दौड़े जहां रघुवर खून से सने हुए और मृत पड़े हुए थे। घटना की खबर गांव में आग की तरह फैल गई। लोगों में गुलदार के हमले की खबर के बाद दहशत है। घटना की जानकारी मिलने पर वन विभाग के अधिकारियों ने आर्थिक मदद का आश्वासन भी दिया है। फिलहाल इस घटना के बाद मृतक के परिजनों में कोहराम मचा हुआ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *